Ladki ko Kaise Pataye | How to Approach a Girl Ideas in Hindi | Bucklol

Ladki ko Kaise Pataye | How to approach a Girl Ideas in Hindi

Jaane Ladki ko Kaise Pataye Ek Asaan se Upaaye Se

आज आप सब के लिए मैं कुछ ऐसा उपाए लाया हु की सभी बच्चे, बुड्ढे, जवान, आदमी, औरत, लड़के, लड़किया सभी तरह के लोग, किसी को भी अपने वश में कर सकते है! अब मैं हमेशा देखा हु यहाँ की हमारे देश में ज्यादातर लौंडे बेचारे इस बात से परेशान रहते है की उन्हें आजतक कोई मिली नहीं, उनसे कोई पटती नहीं और इसलिए वो हमेशा यही सोचा करते है की  Ladki Ko Kaise Pataye .यह सब सोच  कर मुझे बड़ा दुःख होता है और सबसे ज्यादा दुःख तो तब होता है जब ऐसे लौंडो को देखता हु जो इस कहावत ( अपना हाथ, जगन्नाथ ) को अपनी ज़िन्दगी का हिस्सा बना लेते है और फिर बाद में जब शारीरिक रूप से कमजोर  हो  जाते है तो फिर ट्रेन और सड़क पर लगे हुए पोस्टर, जिन पर (प्यार में धोखा , मनचाहा प्यार, और शादी में अड़चन से छुटकारा, मनचाही नौकरी वगैरह ) लिखा होता है , को पढ़ के या तो बंगाली बाबा के पास जाते है या फिर लखनऊ में गुप्त रोग विशेषज्ञ  डॉक्टर जुबैद खान के पास जाते है!

तो मैंने सोचा की कब तक ऐसा ही चलता रहेगा, क्यों न कोई उपाए खोजा जाए की सबका काम बन जाए और सबको पता चल जाए की Ladki Ko Kaise Pataye ! तो मैंने इस विषय पर खोज बीन चालू कर दी! बहुत ढूंढा पर कोई भी ढंग का उपाए नहीं मिला , किसी लेख में गूंजे की माला पहनाने को लिखा था तो कही पर आधी रात को शमशान में जाकर जाप करने को लिखा था .

मतलब कुल मिलाकर सभी चूतिया बनाने में लगे हुए है तो मुझे लगा की सायद ऐसे कोई विधि है ही नहीं.. और आज के जमाने में और इतना कोई चूतिया है भी नहीं की दो चार मंत्र पढ़ लेने से मेरे बस में हो जाए. पर मैंने हिम्मत नहीं हारी और अपनी खोजबीन जारी रखी तभी मैंने एक इंस्पिरेशन ब्लॉग पर एक लेख पढ़ा जिसमे वशीकरण करने का सबसे बेस्ट आईडिया बताया गया था.. मैंने सोचा की फिर कोई मेरा चूतिया काट रहा है पर फिर सोचा की साला यहाँ घर पर पड़ा पड़ा वेला ही तो बैठा हु तो क्यों न पढ़ ही लू मैंने उस ब्लॉग को पूरा पढ़ा.. उस ब्लॉग में वशीकरण की सबसे अच्छी विधि लिखी थी और वो भी पूरी सच्चाई के साथ और इसके साथ ही प्रूफ भी था की कैसे ये विधि काम करती है!

Ladki Ko Kaise Pataye

तो मुझे लगा यह उपाए तो सबको पता चलना चाहिए आखिर सबको हक़ बनता है की कोई हाथ में हाथ डाल कर साथ चलने वाली हो और ऐसा उपाए बताकर मुझे भी कितने लोगो का पुण्य मिलेगा तो इस विधि को जानने के लिए सबसे पहले तो मैं आपके सामने एक कहानी के माध्यम से आपको विधि समझाता हु जिसके माध्यम से आप जान सकते है की आज कल के लड़के Ladki Ko Kaise Pataye! गौर से पढियेगा

एक सन्यासी हिमालय की पहाड़ियों में रहकर साधना करते थे. उनके ज्ञान और बुद्धिमानी की ख्याति दूर-दूर तक थी. एक औरत उनके पास दुखड़ा लेकर आई.

उसने कहा- मेरा पति पहले मुझसे बहुत प्रेम करता था, लेकिन वह जबसे युद्ध से लौटा है उसका बर्ताव बदल गया है. वह अब ठीक से बात तक नहीं करता.

संन्यासी ने महिला से कहा जो युद्ध की त्रासदी का सामना कर चुके होते हैं, उन्हें कई बार विरक्ति हो जाती है. चिंता न करो समय के साथ सब ठीक हो जाएगा.

महिला तो सुनने को राजी न थी. वह काफी दूर से चलकर आई थी. इसलिए उसे हर हाल में ऐसा उपाय चाहिए था जिससे उसका पति पहले की तरह प्रिय हो जाए.

उसने संन्यासी की चापलूसी शुरू कर की- लोग कहते हैं कि आपकी दी हुई जड़ी-बूटी पशुओं तक को इंसान बना देती है. मुझे ऐसी बूटी दें जिससे मेरे पति का वैराग खत्म हो जाए.

संन्यासी समझ गए कि महिला भली तो है लेकिन फिलहाल इसके मन पर किसी ज्ञानवर्धक बात का असर नहीं होगा.

संन्यासी ने कहा- मैं ऐसी दवा बनाकर तुम्हें दे तो सकता था लेकिन उसे तैयार करने के लिए एक खास वस्तु चाहिए जो अभी नहीं है मेरे पास.
महिला को हौसला मिला कि ऐसी दवाई होती तो है जो ये बाबा बनाते हैं. बस दवाई बनाने के लिए जरूरी किसी सामान का अभाव है.
उसने कहा- बाबा आप मुझे बताइए. मैं लाकर देती हूं आपको वह खास वस्तु. जहां भी मिलती हो, जिस मोल मिलती हो मैं लेकर आऊँगी.

संन्यासी ने बताया- उस दवा में पड़ने वाली बाकी सारी चीजें तो मेरे पास हैं बस एक चीज नहीं है- बाघ की मूंछ का एक बाल. बाघ की मूंछ का एक बाल मिलाए बिना दवा बेअसर है.

अब बाघ की मूंछ का एक बाल मिलना इतना सरल तो हैं नहीं इसलिए दवा नहीं बन पाएगी. मुझे दुख है.

महिला ने कहा- बाबा मुझे तो अपने पति को हर हाल में वश में करना है. मैं लेकर आऊंगी बाघ की मूंछ का बाल फिर आप उससे दवा बनाइएगा.

संन्यासी ने कहा कि ठीक है लेकर आओ फिर देखते हैं. महिला बाघ की तलाश में जंगल में निकल पड़ी.

खोजते-खोजते उसे नदी के किनारे एक बाघ दिख भी गया. भोजन करने के बाद वह बाघ पानी पीने आया था. बाघ उस महिला को देखते ही दहाड़ा.

डर के मारे वह वहां से भागी लेकिन उसे तो पति का प्रेम जीतना ही था क्योंकि उसके बिना जीवन फिजूल था. सो उसने प्राण संकट में डालने का निश्चय किया.

वह कई दिनों तक उसी समय नदी किनारे पहुंचती जब बाघ पानी पीने आता. बाघ भोजन करके पानी पीने आता था इसलिए उसे भोजन की आवश्यकता थी नहीं जो महिला पर हमला करे.

धीरे-धीरे उस महिला के मन से बाघ का खौफ कम होता गया. उधर बाघ को भी महिला की मौजूदगी की आदत पड़ गयी.

दोनों ही एक दूसरे के साथ पहले के मुकाबले कुछ सहज हो गए. अब तो बाघ ने उसे देखकर दहाड़ना भी बंद कर दिया था.

महिला बाघ के लिए मांस भी लाने लगी.

बाघ किसी पर तभी हमला करता है जब वह भूखा हो. बिना वजह वह शिकार कभी करता नहीं. लेकिन वह तो तब आती थी जब भोजन कर चुका होता था और अब तो वह बाघ के लिए उपहार भी लाने लगी.

तो भला बाघ उससे क्यों बैर करता!

कई महीनों के लगातार प्रयास के बाद आखिरकार दोनों में दोस्ती हो गई. दोस्ती धीरे-धीरे इतनी बढ़ गई कि अब वह बाघ के पास जाकर पुचकारने-थपथपाने भी लगी थी.

एक दिन हिम्मत करके बाघ की मूंछ का एक बाल भी निकाल लिया और संन्यासी को दिया.

संन्यासी ने वह बाल लिया और उसे आग में झोंक दिया. पलभर में वह खाक हो गया.

महिला बिफर गई. वह सिर्फ एक बाल नहीं था, महिला के कई महीनों की मेहनत और सेवा का परिणाम था जिसके लिए उसने प्राण भी संकट में डाला था.

क्रोध को किसी तरह नियंत्रित करते हुए उसने कहा- बाबा, जिस बाल को प्राप्त करने के लिए मैंने प्राण संकट में डाले उसे आपने जला दिया. अब बूटी कैसे बनेगी?

संन्यासी ने कहा- बेटी तुम्हें अब किसी बूटी की ज़रुरत नहीं है. सोचो जब तुमने बाघ जैसे हिंसक जीव को अपने प्रेम से वश में कर लिया तो पति को वश में करने के लिए किसी औषधि या तंत्र-मंत्र की क्या सचमुच आवश्यकता है?

धैर्यपूर्ण प्रेम से पत्थर को भी पिघलाया जा सकता है. अखबारों में तरह-तरह के वशीकरण के विज्ञापन आ रहे हैं. रिश्ते वशीकरण से नहीं बनते. उसमें प्रेम के जल से सींचने का प्रयास करें. संसार की सबसे मीठी वस्तु मीठी बोली है. बात की मधुरता से ज्यादा मिठास का स्वाद और कहां मिल सकता है.

गोस्वामी तुलसीदासजी कहते हैं- वशीकरण एक मंत्र है, तजदे वचन कठोर. वशीकरण का एक ही मंत्र है- कठोर वाणी का त्याग कर दो. 

उसी तरह रहीम कहते हैं!

कागा काको धन हरे कोयल काको देय।

तो यह थी कहानी! अब आप ही बताइए की क्या समझ आया इस कहानी से ! हां सायद अब आप यह ही सोच रहे होंगे की इस बार फिर आपका चूतिया काट गया पर ऐसा नहीं है समझने वाली बात है! अब आप खुद ही सोचो अगर ऐसे कोई विधि होती तो फिर जिसको विधि आती होगी वो तो हर लड़की को अपने लिए रिज़र्व कर लेगा आपके लिए थोड़े ही छोड़ेगा !

इस लेख मैं बस आपको यह समझाना चाहता हु अगर आप दुनिया के ढकोसलेपन में जाओगे तो सायद राते अकेली ही काटेंगी और शादी से पहले तक आपको हाथ से ही काम चलाना पड़ेगा. और अगर फिर भी आप चाहते हो की आपको किसी को तू अपना बनाना ही है तो उसका सिर्फ एक ही तरीका है, और वो है आपका स्वभाव, आपका चरित्र , आपका व्यवहार और जिसको आप चाहते है उसके प्रति आपका प्रेम. यकीन मानिये, थोड़ा सब्र ही सही पर यह सबसे अच्छा उपाए है.

तो अब आपको समझ आ गया होगा की Ladki Ko Kaise Pataye

अब अगर आप यह सोच रहे हो की बहुत से पैसे वाले लौंडे है जो पैसे के बलबूते पर बहुत लड़किया घुमाते है तो ज़रा ठन्डे दिमाग से सोचो की क्या वो सच में प्यार है या वो लड़किया उससे प्यार करती है इसलिए उसके साथ है? नहीं ! वहां पर बस पैसा है , लालच है, स्वार्थ है . और ऐसे रिलेशन की कोई गारेंटी नहीं होती

इसलिए अगर आप लॉन्ग टर्म रिलेशन चाहते हो तो इससे बढ़िया उपाए आपको कही न मिलेगा! एक बार ज़रूर आजमा कर देखे और अगर फिर भी कोई शंका हो तो नीचे कमेंट में अपना सवाल लिख क्र मुझसे पूछे!

धन्यवाद !

और भी पढ़िए – Hindi Medium Movie Review in Hindi

 

Facebook Comments
5 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *